Bihar Board Class 7 Science Chapter 2 Solutions – जन्तुओं में पोषण

Get Bihar Board class 7 Science chapter 2 solutions for free here. These solutions are available in hindi and covers the complete question answer of chapter 2 – “जन्तुओं में पोषण”.

बिहार बोर्ड की कक्षा 7 विज्ञान पुस्तक का दूसरा अध्याय “जन्तुओं में पोषण” जीवित प्राणियों के लिए एक महत्वपूर्ण जीवन प्रक्रिया पर प्रकाश डालता है। यह अध्याय बच्चों को सिखाता है कि जीव अपने आस-पास के वातावरण से किस प्रकार पोषक तत्वों को प्राप्त करते हैं और उनका उपयोग शरीर के विभिन्न कार्यों के लिए कैसे करते हैं। विद्यार्थी जन्तुओं में विभिन्न पोषण पद्धतियों जैसे परोपजीवी, परभक्षी और स्वयंपोषी के बारे में समझेंगे।

Bihar Board Class 7 Science Chapter 2

Bihar Board Class 7 Science Chapter 2 Solutions

SubjectScience (विज्ञान)
Class7th
Chapter2. जन्तुओं में पोषण
BoardBihar Board

प्रश्न 1. खाली स्थानों को भरिए:-

(a) मानव शरीर की सबसे बड़ी ग्रंथि यकृत है।
(b) मनुष्य में भोजन का पाचन मुख गुहिका में शुरू होकर मलद्वार में पूरा होता है।
(c) आमाशय में हाइड्रोक्लोरिक अम्ल एवं श्लेष्मा का प्राव होता है जो भोजन क्रिया करते हैं।
(d) मनुष्य में पोषण के मुख्य चरण छोटी आंत और बड़ी आँत हैं।
(e) अमीबा अपने भोजन को मुख गुहिका ग्रास की सहायता से ग्रहण करता है।

प्रश्न 2. सही विकल्प पर (✓) का चिह्न लगाइए –

(a) कुतरने में सहायता करने वाला दाँत –

(i) कृन्तक
(ii) रदनक
(iii) अग्रचर्वणक
(iv) चर्वणक

उत्तर:- (ii) रदनक

(b) लार, मंड (स्टार्च) को बदलता है –

(i) माल्टाज
(ii) ग्लूकोज
(iii) संलुलांज
(iv) लैक्टोज

उत्तर:- (ii) ग्लूकोज

(c) पित्त रस का स्राव होता है –

(i) यकृत
(ii) अग्न्याशय
(iii) आमाशय
(iv) छोटी आँत

उत्तर:- (i) यकृत

(d) वसा का पूर्णरूपेण पाचन होता है –

(i) आमाशय
(ii) अग्न्याशय
(ii) बड़ी आँत
(iv) छोटी आँत ।

उत्तर:- (iv) छोटी आँत ।

(e) जल का अवशोषण मुख्यतः होता है

(i) ग्रसिका
(ii) बड़ी आँत
(iii) छोटी आँत
(iv) आमाशय

उत्तर:- (ii) बड़ी आँत

प्रश्न 3. सत्य और असत्य कथनों को चिह्नित कीजिए

(i) आमाशय में हाइड्रोक्लोरिक अम्ल का स्राव होता है। – सत्य
(i) पित्त रस में प्रोटीन का पाचन होता है। – असत्य
(iii) प्रोटीन का पाचन मुख से आरंभ हो जाती है। – असत्य
(iv) जुगाली करने वाले निगली हुई घास को पुनः अपने मुख में लाकर धीरे-धीरे चबाते हैं। – सत्य

प्रश्न 4. कॉलम A के कथनों का मिलान कॉलम B से कीजिए –

(a) कार्बोहाइड्रेट(iii) शर्करा
(b) प्रोटीन(iv) अमीनो अम्ल
(c) वसा(v) वसा अम्ल एवं ग्लिसरॉल
(d) पित्तरस(ii) पित्ताशय
(e) लार(i) लार ग्रंथि

प्रश्न 5. आहारनाल के किन भागों द्वारा ये कार्य होते हैं –

  1. ‘भोजन का चबाना – मुख गुहिका
  2. जीवाणु नष्ट होना – आमाशय
  3. उपयोगी पदार्थों का अवशोषण – बडी आँत
  4. मल का निकास। – मलद्वार

प्रश्न 6. एक शब्द में उत्तर दीजिए –

  1. मानव शरीर में पाया जानेवाला कठोरतम पदार्थ ।
  2. पचे भोजन का अवशोषण करने वाली अँगली जैसी संरचनाएँ।
  3. घास खाने वाले जन्तुओं में सेलुलोज पाचन का स्थान ।
  4. अमीबा में भोजन पाचन का स्थान ।
  5. भोजन के अवयवों से उपयोगी पदार्थ संश्लेषण की प्रक्रिया ।

उत्तर:-

  1. इनेमल
  2. दीर्घराम या रसांगुल
  3. रूमेन
  4. खाद्यधानी
  5. जटिल पदार्थों का बनना ।

प्रश्न 7. कारण बताइए

(a) मनुष्य में सेलुलोज का पाचन नहीं होता है।

उत्तर:- मनुष्य में सेलुलोज का पाचन नहीं होता है क्योंकि मानव शरीर में सेलुलेज एंजाइम का अभाव होता है। सेलुलेज एंजाइम सेलुलोज को छोटे अणुओं में विभाजित करने के लिए आवश्यक है। इसलिए, मनुष्य सेलुलोज युक्त भोजन का पूर्ण रूप से पाचन नहीं कर पाता है।

(b) अमीबा के खाद्यधानी में भोजन का पाचन होता है।

उत्तर:- अमीबा एक सरल जीव है जिसमें खाद्यधानी होता है। खाद्यधानी अमीबा के शरीर में बना एक प्रकार का अंतरविभाजित ग्रंथि है जहां भोजन का पाचन होता है। अमीबा भोजन को अपने शरीर में ले जाती है और खाद्यधानी में पाचक रसायनों का स्राव करती है जिससे भोजन का पाचन होता है।

(c) वायुनली तथा भोजन नली का संबंध ग्रसनी से है फिर भी भोजन वायुनली में नहीं जाता है।

उत्तर:- वायुनली (श्वसन नली) और भोजननली का संबंध ग्रसनी से होता है, लेकिन भोजन वायुनली में नहीं जाता है। इसका कारण यह है कि ग्रसनी की दीवार पर एक लघु पर्दा (झिल्ली) होता है जिसे एपिग्लॉटिस कहते हैं। यह झिल्ली निगलने के समय उठती है और भोजन को भोजननली में जाने देती है। साथ ही यह वायुनली को भी बंद कर देती है ताकि भोजन वायुनली में न जा सके।

प्रश्न 8. छोटी आंत में किन ग्रंथियों के स्राव आते हैं। पाचन में उनकी क्या भूमिका है?

उत्तर:- छोटी आंत में निम्नलिखित ग्रंथियों के स्राव आते हैं और पाचन में उनकी भूमिका है:-

  • लिवर (यकृत) से पित्तरस स्रावित होता है जो वसा के पाचन में सहायक है।
  • अग्नाशय से पाचक रसायन आते हैं जैसे अम्लरिक्त, लाइपेज और टाइप्सिन जो क्रमशः कार्बोहाइड्रेट्स, वसा और प्रोटीन के पाचन में सहायक होते हैं।
  • छोटी आंत की दीवार से पानी, सोडियम बाइकार्बोनेट और एंजाइम जैसे स्राव आते हैं जो पाचन प्रक्रिया में सहायक होते हैं।

प्रश्न 9. अमीबा में पोषण की प्रक्रिया मानव से भिन्न है? क्यों?

उत्तर:- हाँ, अमीबा में पोषण की प्रक्रिया मानव से भिन्न है। अमीबा एक सरल जीव है और मानव एक जटिल जीव। अमीबा में पाचन प्रक्रिया आंतरिक पाचन द्वारा होती है जबकि मानव में पाचन एक जटिल तंत्र द्वारा बाह्य पाचन के रूप में होता है। अमीबा भोजन को अपने शरीर के भीतर ले जाती है और खाद्यधानी में पाचक रसायनों का स्राव करती है जिससे भोजन का पाचन होता है। मानव में अलग-अलग अंग होते हैं जो विभिन्न पाचक रसायनों का स्राव करते हैं और भोजन को पचाते हैं।

प्रश्न 10. मनुष्य में पाये जाने वाले दाँत तथा उनके कार्यों को लिखें।

उत्तर:- मनुष्य में पाये जाने वाले दाँत और उनके कार्य इस प्रकार हैं:-

  • दाढ़वाले दाँत (इनसाइजर) – इनका कार्य भोजन को काटना और तोड़ना है।
  • नोकदार दाँत (निब) – ये भोजन को काटने और फाड़ने का कार्य करते हैं।
  • चबाने वाले दाँत (दरवाज़े) – इनका मुख्य कार्य भोजन को चबाना और कुचलना है।
  • गोल दाँत (दक्षक्ष) – ये दाँत चबाने वाले दाँतों की तरह काम करते हैं लेकिन साथ ही भोजन को पिसना भी उनका कार्य है।

प्रश्न 11. मनुष्य के पाचनतंत्र का नामांकित चित्र बनाए

उत्तर:-

Other Chapter Solutions
Chapter 1 Solutions – जल और जंगल
Chapter 2 Solutions – जन्तुओं में पोषण
Chapter 3 Solutions – ऊष्मा
Chapter 4 Solutions – जलवायु और अनुकूलन
Chapter 5 Solutions – पदार्थ में रासायनिक परिवर्तन
Chapter 6 Solutions – पौधों में पोषण
Chapter 7 Solutions – हवा, ऑंधी, तूफान
Chapter 8 Solutions – गति एवं समय
Chapter 9 Solutions – गंदे जल का निपटान
Chapter 10 Solutions – विद्युत धारा और इसके प्रभाव
Chapter 11 Solutions – रेशों से वस्त्र तक
Chapter 12 Solutions – अम्ल, क्षार एवं लवण
Chapter 13 Solutions – मिट्टी
Chapter 14 Solutions – पौधों में संवहन
Chapter 15 Solutions – जीवों में श्वसन
Chapter 16 Solutions – प्रकाश
Chapter 17 Solutions – पौधों में जनन
Chapter 18 Solutions – जन्तुओं में रक्त पससिंचरण एवं उत्सर्जन

Leave a Comment