Bihar Board Class 7 Hindi Chapter 2 Solutions – नचिकेता

Searching for a guide for Bihar Board class 7 Hindi chapter 2? Get our free guide on this chapter here. Today you will get the complete question answer of chapter 2 – “नचिकेता” in hindi.

“नचिकेता” इस अध्याय में आप एक प्राचीन काल की बहुमूल्य कहानी पढ़ेंगे। यह कहानी कठोपनिषद् से ली गई है और बालक नचिकेता के चरित्र के माध्यम से हमें सत्य के प्रति अटूट निष्ठा, दृढ़ पितृभक्ति तथा आत्मज्ञान की खोज का महत्वपूर्ण संदेश देती है। इस कथा में नौ वर्षीय नचिकेता अपने पिता की अज्ञानता और अनादर से विचलित नहीं होता, बल्कि यमराज के समक्ष खुद की बुद्धिमत्ता और धैर्य से उनका आदर अर्जित करता है। अंत में यमराज ही नचिकेता को आत्मा के रहस्य समझाते हैं।

Bihar Board Class 7 Hindi Chapter 2

Bihar Board Class 7 Hindi Chapter 2 Solutions

SubjectHindi
Class7th
Chapter2. नचिकेता
Author
BoardBihar Board

पाठ से

प्रश्न 1. नचिकेता कौन था?

उत्तर:- नचिकेता महर्षि बाजश्रवा का एकलौता पुत्र था।

प्रश्न 2. नचिकेता क्यों दुःखी हुआ ? उसने अपने पिताजी से क्या कहा?

उत्तर:- नचिकेता अपने पिता बाजश्रवा द्वारा महायज्ञ में बूढ़ी और दूध न देने वाली गाय दान देते देख दुःखी हुआ। उसने पिता से कहा कि आपने तो सर्वस्व दान देने का संकल्प लिया था, फिर ऐसी गाय क्यों दान की?

प्रश्न 3. नचिकेता यमपुरी किसलिए गया ?

उत्तर:- नचिकेता के पिता बाजश्रवा ने उसे अनजाने में यज्ञ में यमराज को दान दे दिया था। इसलिए पिता की आज्ञा का पालन करते हुए नचिकेता यमपुरी गया।

प्रश्न 4. नचिकेता को यमपुरी के मुख्य द्वार पर क्यों रूकना पड़ा?

उत्तर:- नचिकेता जब यमपुरी पहुंचा तो यमराज बाहर गए हुए थे। इसलिए उनके लौटने की प्रतीक्षा में उसे मुख्य द्वार पर ही ठहरना पड़ा।

प्रश्न 5. नचिकेता ने पहला वरदान क्या माँगा?

उत्तर:- नचिकेता ने पहला वरदान में पिता के क्रोध को शांत होने का वरदान माँगा।

प्रश्न 6. नचिकेता ने दूसरा और तीसरा वर क्या माँगा ?

उत्तर:- नचिकेता ने दूसरा वरदान में अभय देने वाली विद्या माँगा तथा तीसरा वरदान में आत्मा के रहस्य बताने को कहा।

प्रश्न 7. किसने , किससे कहा?

(क) “मृत्यु के मुख में पहुंचकर कोई नहीं लौटा वत्स !”

उत्तर:- बाजश्रवा ने नचिकेता से कहा।

(ख) “छोटा मुँह और बड़ी बात करता है। यज़ की मुझे चिन्ता होनी चाहिए, तुझे नहीं।”

उत्तर:- बाजश्रवा ने नचिकेता से कहा।

(ग) “आप तो यमपुरी जाने की आज्ञा पहले ही दे चुके हैं। अब कुछ भी कहना मेरे लिए निरर्थक है।”

उत्तर:- नचिकेता ने पिता बाजश्रवा से कहा।

पाठ से आगे –

प्रश्न 1. महर्षि बाजश्रवा अगर गायों को ब्राह्मण को दान में दे देते तो क्या होता?

उत्तर:- यदि महर्षि बाजश्रवा बूढ़ी और दूध न देने वाली गायों को ब्राह्मणों को दान में दे देते तो उनका यज्ञ सफल नहीं होता। यज्ञ में तज्ज्ञों द्वारा निर्धारित विधि का पालन करना महत्वपूर्ण है।

प्रश्न 2. यज्ञ से क्या तात्पर्य है?

उत्तर:- यज्ञ का अर्थ है किसी विशेष उद्देश्य के लिए देवताओं का विधिवत् पूजन और हवन करना। जैसे – पुत्र प्राप्ति के लिए राजा दशरथ ने पुत्रेष्टि यज्ञ किया था।

प्रश्न 3. अगर आपको तीन वर माँगने के लिए कहा जाय तो आप क्या माँगेंगे?

उत्तर:- यदि मुझे तीन वर मांगने को कहा जाए तो मैं

(1) सद्विद्या प्राप्त करना
(2) स्वस्थ रहना और
(3) अपने कर्तव्यों का पालन करते रहना, ये तीन वर मांगूंगा।

प्रश्न 4. नचिकेता “साधु-प्रवृत्ति” का था। साधु-प्रवृत्ति से आप क्या समझते हैं?

उत्तर:- “साधु-प्रवृत्ति” का अर्थ है सरल और सही स्वभाव वाला होना। नचिकेता सरल और सत्यनिष्ठ प्रवृत्ति का था।

Other Chapter Solutions
Chapter 1 Solutions – मानव बनो
Chapter 2 Solutions – नचिकेता
Chapter 3 Solutions – पुष्प की अभिलाषा
Chapter 4 Solutions – दानी पेड़
Chapter 5 Solutions – वीर कुँवर सिंह
Chapter 6 Solutions – गंगा स्तुति
Chapter 7 Solutions – साइकिल की सवारी
Chapter 8 Solutions – बचपन के दिन
Chapter 9 Solutions – वर्षा बहार
Chapter 10 Solutions – कुंभा का आत्म बलिदान
Chapter 11 Solutions – कबीर के दोहे
Chapter 12 Solutions – जन्म-बाधा
Chapter 13 Solutions – शक्ति और क्षमा
Chapter 14 Solutions – हिमशुक
Chapter 15 Solutions – ऐसे-ऐसे
Chapter 16 Solutions – बूढ़ी पृथ्वी का दुख
Chapter 17 Solutions – सोना
Chapter 18 Solutions – सोनाहुएनत्सांग की भारत यात्रा
Chapter 19 Solutions – आर्यभट
Chapter 20 Solutions – यशास्विनी
Chapter 21 Solutions – गुरु की सीख
Chapter 22 Solutions – समय का महत्व

Leave a Comment