Bihar Board Class 7 Civics Chapter 1 Solutions – लोकतंत्र में समानता

Solutions for Bihar Board class 7 Civics chapter 1 is available on this page. Below you will get answers for all the exercise questions from chapter 1 – “लोकतंत्र में समानता” in hindi medium.

बिहार बोर्ड की कक्षा 7 की सिविक्स (सामाजिक आर्थिक एवं राजनीतिक जीवन) की पाठ्यपुस्तक का प्रथम अध्याय “लोकतंत्र में समानता” एक महत्वपूर्ण विषय पर प्रकाश डालता है। यह अध्याय हमें लोकतांत्रिक समाज में समानता के महत्व को समझने में मदद करता है। इसमें बताया गया है कि किस प्रकार समानता लोकतंत्र के लिए अनिवार्य है और यह कैसे समाज में एकता और भाईचारे को बढ़ावा देती है। साथ ही, यह अध्याय समानता के विभिन्न पहलुओं पर भी प्रकाश डालता है, जैसे कानून के सामने समानता, अवसरों की समानता आदि।

Bihar Board Class 7 Civics Chapter 1

Bihar Board Class 7 Civics Chapter 1 Solutions

SubjectCivics
Class7th
Chapter1. लोकतंत्र में समानता
BoardBihar Board

पाठगत प्रश्नोत्तर

प्रश्नों के उत्तर दें-

प्रश्न 1. वोट देने का अधिकार किसे कहते है ?

उत्तर- वोट देने का अधिकार सभी भारतीय नागरिकों को प्राप्त है जो 18 वर्ष की आयु से अधिक हैं। इसमें धर्म, जाति, लिंग या आर्थिक स्थिति का कोई लेना-देना नहीं है। सभी वयस्क नागरिक समान रूप से वोट देने के अधिकारी हैं।

प्रश्न 2. कतार में खड़ा होकर क्या कहीं पनम को समानता का अनुभव हो रहा है, कैसे?

उत्तर- पूनम मतदान केंद्र पर लगी लाइन में सबसे आगे खड़ी थी। उसे किसी ने उसके नौकर होने या गरीब होने के कारण पीछे नहीं खड़ा किया। वहां सभी समान थे और पूनम को समानता का अहसास हुआ।

प्रश्न 3. वोट देने के अधिकार में क्या आपका काम, शिक्षा, पैसे या धर्म व जाति से कोई फर्क पड़ता है ? चर्चा करें।

उत्तर- वोट देने के अधिकार में व्यक्ति का काम, शिक्षा, धन या धर्म-जाति का कोई असर नहीं पड़ता। ये अधिकार सभी को समान रूप से प्राप्त है। इसमें भेदभाव नहीं किया जाता।

प्रश्न 4. फोटो पहचान-पत्र की जरूरत और कहाँ-कहाँ हो सकती है ?

उत्तर- फोटो पहचान पत्र मतदान के समय, राशन कार्ड बनवाते समय, बैंक खाता खोलते समय, पासपोर्ट बनवाते समय और अन्य कानूनी पंजीकरण के लिए आवश्यक होता है। इसमें व्यक्ति की पहचान के साथ उसकी आयु और पता भी दर्ज होता है।

प्रश्न 5. अब तक रमा स्कूल क्यों नहीं गई?

उत्तर- रमा गरीब परिवार से आती है और उसकी मां की आय कम है। इसलिए वह रमा को प्राइवेट स्कूल में नहीं भेज सकती। साथ ही सरकारी स्कूल उनके घर से काफी दूर है, इसलिए रमा अभी तक स्कूल नहीं जा पाई।

प्रश्न 6. पूनम को असमानता का अहसास क्यों होता है?

उत्तर- पूनम को असमानता का अहसास इसलिए होता है क्योंकि उसकी आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं है। वह अपनी बेटी को प्राइवेट स्कूल में नहीं भेज सकती और सरकारी स्कूल दूर होने के कारण भी नहीं भेज पाती।

प्रश्न 7. आपके आसपास किस-किस प्रकार के स्कूल हैं?

उत्तर- छात्र इस प्रश्न को अपने अनुसार लिखे।

प्रश्न 8. अच्छा स्कूल आप किसे मानेंगे? आपस में चर्चा करें।

उत्तर- एक अच्छा स्कूल वह होता है जहां बच्चों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के साथ-साथ खेल-कूद और शारीरिक गतिविधियों में भी हिस्सा लेने का मौका मिलता है। वहां बच्चों को सीखने और आगे बढ़ने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है।

प्रश्न 9. बाल संसद के लिए चुनाव करवाना क्यों जरूरी है?

उत्तर- बाल संसद के लिए चुनाव करवाना इसलिए जरूरी है ताकि बच्चे अपने मताधिकार का प्रयोग कर सकें। इससे उन्हें अपने अधिकारों और कर्तव्यों के प्रति जागरूकता बढ़ेगी। साथ ही उनकी निर्णय क्षमता भी विकसित होगी।

प्रश्न 10. यदि शिक्षक द्वारा प्रतिनिधि मनोनीत कर दिया जाता, तो क्या फर्क पड़ता?

उत्तर- यदि शिक्षक द्वारा प्रतिनिधि मनोनीत किए जाते हैं तो बच्चों को अपनी पसंद का प्रतिनिधि चुनने का अवसर नहीं मिलेगा। उनमें चुनाव प्रक्रिया और मतदान से जुड़े अनुभव प्राप्त करने का अवसर भी छिन जाएगा।

प्रश्न 11. क्या चुनाव प्रक्रिया में एक व्यक्ति एक मत’ के सिद्धान्त का प्रयोग हुआ है ? समझाएँ।

उत्तर- हां, चुनाव प्रक्रिया में ‘एक व्यक्ति, एक मत’ के सिद्धांत का पालन किया जाता है। इसका अर्थ है कि प्रत्येक वयस्क नागरिक को केवल एक बार ही मतदान करने का अधिकार है। किसी भी व्यक्ति को एक से अधिक बार मतदान करने की अनुमति नहीं है। यह व्यवस्था निष्पक्ष चुनाव सुनिश्चित करने में मदद करती है।

प्रश्न 12. एक व्यक्ति एक मत’ के नियम से क्या लाभ है?

उत्तर- ‘एक व्यक्ति, एक मत’ के नियम से यह सुनिश्चित होता है कि सभी नागरिकों के मत समान महत्व रखते हैं। इससे चुनाव प्रक्रिया में निष्पक्षता और जनादेश की प्रामाणिकता बनी रहती है। साथ ही यह लोकतंत्र की आत्मा को भी मजबूत करता है।

प्रश्न 13. आपके विद्यालय में बाल संसद ने क्या काम किया और क्या कर सकती है? अपनी राय लिखें।

उत्तर- हमारी विद्यालय की बाल संसद ने हमें अनुशासन और आचरण के बारे में सिखाया। हमने मिलकर विद्यालय में एक बगीचा भी लगाया। बाल संसद के सदस्यों ने बच्चों के खेलने के लिए झूले भी लगवाए। उन्होंने हमें हमारे अधिकारों और मत के महत्व के बारे में भी समझाया।

प्रश्न 14. दक्षिण अफ्रीका में रेल यात्रा के दौरान गाँधीजी के गरिमा को किस प्रकार ठेस पहुँची?

उत्तर- गांधीजी जब दक्षिण अफ्रीका गए थे तो वहां नस्लभेद की समस्या बहुत गंभीर थी। एक बार ट्रेन यात्रा के दौरान उनके पास प्रथम श्रेणी का टिकट था, लेकिन रेलकर्मियों ने उन्हें तृतीय श्रेणी में जाने को कहा क्योंकि वे गोरे नहीं थे। जब गांधीजी ने इनकार किया तो उन्हें जबरदस्ती ट्रेन से उतार दिया गया। इस घटना से गांधीजी की गरिमा को गहरी ठेस पहुंची।

प्रश्न 15. आपबीती के लेखक को अपने संबंधी के यहाँ किन बातों से ठेस पहुँची होगी, चर्चा करें।

उत्तर- आपबीती के लेखक साधारण परिवार से आते थे। एक बार उन्हें अपने धनी रिश्तेदारों के यहां शादी समारोह में जाना पड़ा। वहां सभी अमीर लोग थे जो महंगे कपड़े पहने हुए थे और बड़ी गाड़ियों से आए थे। लेकिन लेखक को न तो बैठने के लिए पूछा गया, न खाने के लिए। रात भर उन्हें मच्छरों ने काटा। उनके रिश्तेदारों द्वारा ऐसा व्यवहार करने से लेखक की गरिमा को ठेस पहुंची।

प्रश्न 16. क्या आपके साथ ऐसी कोई घटना हई है जिसमें आपकी गरिमा को ठेस पहुंची हों?

उत्तर- हां, मेरे साथ भी ऐसा हुआ है जब मेरी गरिमा को ठेस पहुंची। एक बार मैं अपने धनी रिश्तेदारों के घर जन्मदिन समारोह में गई। वहां उनका व्यवहार मेरे साथ औपचारिक था जबकि अन्य लोगों के साथ बहुत प्यार और अपनापन से पेश आए। इससे मुझे बहुत बुरा लगा और मेरी गरिमा को भी ठेस पहुंची।

प्रश्न 17. इन विज्ञापनों में जाति एवं अन्य सामाजिक असमानता के सूचक शब्दों को रेखांकित करें।

उत्तर- इस प्रश्न को विद्यार्थी स्वयं करे।

प्रश्न 18. मध्याह्न भोजन योजना का उद्देश्य क्या है?

उत्तर- मध्याह्न भोजन योजना का उद्देश्य विद्यालयों में बच्चों की उपस्थिति बढ़ाना है। कई बच्चे भूखे पेट ही स्कूल आते हैं जिससे उनका ध्यान पढ़ाई में नहीं लगता। इस योजना से ऐसे बच्चों को स्कूल में भोजन मिल जाता है। साथ ही माताओं को भी अपने काम छोड़कर भोजन बनाने नहीं जाना पड़ता। यह योजना बच्चों के बीच की सामाजिक दूरियों को भी मिटाने में मदद करती है।

प्रश्न 19. मध्याह्न भोजन और विद्यालय से संबंधित अंशों से समानता दशनि वाले वाक्य चुनो और लिखो?

उत्तर- मध्याह्न भोजन और विद्यालय से संबंधित समानता दर्शाने वाले वाक्य हैं: –

“सभी बच्चों को एक जगह बैठाकर एक प्रकार का भोजन करवाना चाहे उनकी जाति कोई भी हो।”
“भोजन बनाने के लिए किसी भी जाति के लोग को नियुक्त करना, चाहे वे दलित हो या महादलित।”

प्रश्न 20. क्या आपने कभी मध्याह्न भोजन के दौरान असमानता का अनुभव किया है, अगर हाँ तो कैसे?

उत्तर- नहीं, मैंने कभी मध्याह्न भोजन के दौरान असमानता का अनुभव नहीं किया है।

प्रश्न 21. बाल संसद समानता के लिए क्या कर सकती है? चर्चा कीजिए।

उत्तर- बाल संसद सभी बच्चों को एक समान अवसर देकर उनके बीच के भेदभाव को दूर कर सकती है। वह सभी बच्चों के साथ समान व्यवहार करके उनमें समानता की भावना पैदा कर सकती है। बाल संसद सभी बच्चों को आगे बढ़ने और प्रगति करने के लिए प्रोत्साहित कर सकती है। सभी को एक साथ बिठाकर एक जैसा भोजन करवाना भी असमानता को दूर करने में मदद करेगा।

अभ्यास के प्रश्नोत्तर

प्रश्न 1. अपने आस पड़ोस से समानता और असमानता दर्शाने वाले किन्हीं । तीन व्यवहारों का उल्लेख करें। समानता के व्यवहार

उत्तर- आस-पास के समानता दर्शाने वाले कुछ व्यवहार इस प्रकार हैं:-

  1. पार्क में सभी बच्चे एक साथ खेलते हैं और एक-दूसरे के साथ बिना किसी भेदभाव के व्यवहार करते हैं, चाहे वे किसी भी जाति, धर्म या आर्थिक स्तर से संबंधित हों।
  2. सार्वजनिक स्थानों पर जैसे बस स्टॉप, मार्केट आदि पर सभी लोग एक साथ बिना किसी भेदभाव के खड़े होते हैं और एक दूसरे का सम्मान करते हैं।
  3. कॉलोनी के कार्यक्रमों में सभी लोग एक साथ बैठकर भाग लेते हैं और एक-दूसरे के साथ मेलजोल रखते हैं, बिना किसी भेदभाव के।

असमानता के व्यवहार:-

  1. कुछ लोग अपने आस-पास के साफ-सफाई कर्मचारियों के साथ घृणित व्यवहार करते हैं और उन्हें हेय दृष्टि से देखते हैं।
  2. समाज के कुछ वर्ग अभी भी दलित समुदाय के लोगों के साथ भेदभाव करते हैं और उन्हें अलग रखते हैं।
  3. आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लोगों के साथ अक्सर भेदभावपूर्ण व्यवहार देखा जाता है, जिससे उन्हें असहज महसूस होता है।

प्रश्न 2. क्या आपने कभी किसी के साथ असमान व्यवहार किया है? यदि हाँ तो कब और क्यों?

उत्तर- नहीं, मैंने किसी के साथ भी कभी असमान व्यवहार नहीं किया है। हम सभी बच्चे स्कूल में एक साथ बैठकर लंच करते हैं, खेलते हैं और पढ़ाई करते हैं। हमें किसी का धर्म, जाति या आर्थिक स्तर नहीं दिखता। हम सभी बराबर हैं क्योंकि जाति-धर्म का कोई महत्व नहीं, बल्कि इंसान के कर्म और व्यवहार से उसकी पहचान होती है।

प्रश्न 3. क्या आपको किसी के व्यवहार से ठेस पहुंची है?

उत्तर- हां, एक बार मेरी गरिमा को ठेस पहुंची थी। मैं अपने धनी रिश्तेदारों के घर कार्यक्रम में गई थी। वहां उनका व्यवहार मेरे साथ बहुत औपचारिक था जबकि अन्य लोगों के साथ बहुत प्यार और अपनापन से पेश आए। यह असमान व्यवहार मेरे लिए दुःखद था और मुझे बहुत बुरा लगा।

प्रश्न 4. यदि आप रोजा पार्क्स की जगह दक्षिण अफ्रिका में रहते तो क्या करते?

उत्तर- अगर मैं रोज़ा पार्क्स की जगह दक्षिण अफ्रीका में होती, तो मैं भी उनकी तरह अपना विरोध जताती। गोरे और काले के बीच भेदभाव करना गलत है। हम सभी इंसान हैं और भगवान की देन हैं। रंग के आधार पर किसी को अलग न्यायसंगत नहीं है। मैं भी अपनी जगह पर डटी रहती और उस व्यक्ति को नहीं देती।

प्रश्न 5. क्या कभी आपने पंक्ति में खड़े लोगों से बाद में आने के बावजूद आगे होने का प्रयास किया है ? यदि हाँ तो क्यों ?

उत्तर- नहीं, मैंने कभी भी बाद में आकर पंक्ति में आगे खड़े होने की कोशिश नहीं की। यह अनुचित होगा क्योंकि जो लोग पहले से पंक्ति में खड़े हैं, उनका काम पहले होना चाहिए। हो सकता है किसी के लिए कोई काम बहुत जरूरी हो, और अगर हम बीच में आकर लाइन में खड़े हो जाएंगे तो उसका काम देर से होगा जिससे उसे नुकसान हो सकता है।

प्रश्न 6. असमानता के कई रूप हैं। यह कैसे कह सकते हैं?

उत्तर- असमानता के कई रूप होते हैं जिन्हें हम अपने आस-पास देख सकते हैं, जैसे:-

  • विवाह विज्ञापनों में जाति प्रधानता
  • नौकरियों में किसी खास वर्ग को वरीयता
  • अमीर बच्चों द्वारा गरीब बच्चों के प्रति भेदभाव
  • दलितों के साथ छुआछूत का व्यवहार
  • उच्च जाति द्वारा निम्न जाति के लोगों के प्रति भेदभाव
  • निम्न जातियों के लिए आरक्षण की मांग
Other Chapter Solutions
Chapter 1 Solutions – लोकतंत्र में समानता
Chapter 2 Solutions – राज्य सरकार
Chapter 3 Solutions – शिक्षा एवं स्वास्थ्य के क्षेत्र में सरकार की भूमिका
Chapter 4 Solutions – समाज में लिंग भेद
Chapter 5 Solutions – समानता के लिए महिला संघर्ष
Chapter 6 Solutions – मीडिया और लोकतंत्र
Chapter 7 Solutions – विज्ञापन की समझ
Chapter 8 Solutions – हमारे आस-पास के बाजार
Chapter 9 Solutions – बाजार श्रृंखला खरीदने और बेचने की कड़ियाँ
Chapter 10 Solutions – चलें मण्डी घूमने
Chapter 11 Solutions – समानता के लिए संघर्ष

Leave a Comment